English-Video.net comment policy

The comment field is common to all languages

Let's write comments in your language and use "Google Translate" together

Please refer to informative community guidelines on TED.com

TED2018

Mikhail Zygar: What the Russian Revolution would have looked like on social media

मिखाइल ज़्यागर: रूसी क्रांति सोशल मीडिया पर कैसे दिखती

Filmed:
1,088,912 views

इतिहास विजेताओं द्वारा लिखा गया है, जैसा कहा गया है - लेकिन यह कैसा लगता अगर यह सबके द्वारा लिखा गया होता? पत्रकार और टेड फेलो मिखाइल ज़्यागर हमें परियोजना 1 9 17 के साथ दिखाने के लिए एक मिशन पर हैं, जो "मृत लोगों के लिए सोशल नेटवर्क" है जो रूसी क्रांति के दौरान रहने वाले 3,000 से अधिक लोगों की असली डायरी और पत्र पोस्ट किये है। लेनिन, ट्रॉटस्की और कई कम जाने गए लोगों के दैनिक विचारों को दिखाकर, परियोजना इतिहास पर नई रोशनी डालती है जो की एक बार यह थी - और जैसी हो भी सकती थी। अतीत की इस डिजिटल री-टेलिंग के साथ-साथ ज़्यागर की 1 9 68 के परिवर्तनीय वर्ष के बारे में नवीनतम प्रोजेक्ट के बारे में और जानें। itihaas vijetaon dvaara likha gaya hai, jaisa kah raha hai - lekin yah kaisa lagega agar yah sabake dvaara likha gaya tha? patrakaar aur ted phelo mikhail zyaagar hamen pariyojana 1 9 17 ke saath dikhaane ke lie ek mishan par hain, jo "mrt logon ke lie saamaajik netavark" hai jo roosee kraanti ke dauraan rahane vaale 3,000 se adhik logon kee asalee daayaree aur patr post karata hai. lenin, trotaskee aur kaee kam manae gae aankadon ke dainik vichaaron ko dikhaakar, pariyojana itihaas par naee roshanee daalatee hai kyonki yah ek baar thee - aur jaisa bhee ho sakata tha. ateet kee is dijital reeteling ke saath-saath zeegar kee 1 9 68 ke parivartaneey varsh ke baare mein naveenatam pariyojana ke baare

- Journalist, writer, filmmaker
Mikhail Zygar is the founder of Future History, the creative digital studio behind Project1917 and 1968.digital. Full bio

What is historyइतिहास?
इतिहास क्या है?
00:13
It is something writtenलिखा हुआ by the winnersविजेताओं.
यह विजेताओं द्वारा लिखित कुछ है।
00:15
There is a stereotypeछवि that historyइतिहास
should be focusedध्यान केंद्रित on the rulersशासकों,
एक रूढ़िवादी धारणा है कि इतिहास
शासकों पर ध्यान केंद्रित होना चाहिए ,
00:20
like Leninलेनिन or Trotskyट्राटस्की.
लेनिन या ट्रॉटस्की की तरह।
00:24
As a resultपरिणाम, people
in manyअनेक countriesदेशों, like mineमेरी, Russiaरूस,
नतीजतन, कई देशों में लोगों ने ,
मेरी तरह, रूस,
00:27
look at historyइतिहास as something
that was predeterminedपूर्वनिर्धारित
में इतिहास को जिस रूप में देखा
वह पूर्व निर्धारित था
00:31
or determinedनिर्धारित by the leadersनेताओं,
या नेताओं द्वारा निर्धारित था,
00:35
and commonसामान्य people could not
influenceप्रभाव it in any way.
और आम लोग इसे किसी भी तरह से
प्रभावित नहीं कर सके।
00:38
Manyकई Russiansरूसी todayआज do not believe
that Russiaरूस could ever have been
आज कई रूसी विश्वास नहीं करते हैं
कि रूस कभी
00:41
or ever will be a trulyसही मायने में democraticलोकतांत्रिक nationराष्ट्र,
सही मायने में लोकतांत्रिक राष्ट्र था
या कभी होगा,
00:45
and this is dueदेय to the way
historyइतिहास has been framedतैयार
और यह इसलिए है क्योंकि इतिहास ने
ऐसा बना दिया है
00:48
to the citizensनागरिकों of Russiaरूस.
रूस के नागरिकों के लिए।
00:51
And this is not trueसच.
और यह सच नहीं है।
00:52
To proveसाबित करना it, I spentखर्च किया two yearsवर्षों
of my life tryingकोशिश कर रहे हैं to go 100 yearsवर्षों back,
ये साबित करने के लिए, मैंने जीवन के दो साल
बिताए सौ साल पीछे जाने की कोशिश में.
00:55
to the yearसाल 1917,
वर्ष 1 9 17 में,
01:00
the yearसाल of the Russianरूसी Revolutionक्रांति.
रूसी क्रांति का वर्ष।
01:03
I askedपूछा myselfखुद, what if the internetइंटरनेट
and FacebookFacebook existedअस्तित्व में 100 yearsवर्षों agoपूर्व?
मैंने पूछा, क्या होता यदि सौ साल पहले
इंटरनेट और फेसबुक अस्तित्व में होते?
01:05
So last yearसाल, we builtबनाया
a socialसामाजिक networkनेटवर्क for deadमृत people,
तो पिछले साल, हमने बनाया
मृत लोगों के लिए एक सोशल नेटवर्क,
01:12
namedनामित Projectपरियोजना1917.comकॉम.
प्रोजेक्ट 1 9 17.com नामित
01:17
My teamटीम and I createdबनाया था our softwareसॉफ्टवेयर,
मेरी टीम और मैंने अपना सॉफ्टवेयर बनाया,
01:22
digitizedडिजीटल and uploadedअपलोड की गई
all possibleमुमकिन realअसली diariesडायरियों and lettersपत्र
डिजिटली कृत और अपलोड किया
सभी संभव असली डायरी और पत्रों से
01:24
writtenलिखा हुआ by more than 3,000 people
जो तीन हज़ार से अधिक लोगों द्वारा
लिखे गए थे
01:30
100 yearsवर्षों agoपूर्व.
सौ साल पहले।
01:33
So any userउपयोगकर्ता of our websiteवेबसाइट or applicationआवेदन
तो हमारी वेबसाइट या एप्लीकेशन का
कोई भी उपयोगकर्ता
01:34
can followका पालन करें a newsसमाचार feedचारा
for eachसे प्रत्येक day of 1917
एक न्यूज़ फ़ीड का पालन कर सकते हैं
1 9 17 के प्रत्येक दिन के लिए
01:38
and readपढ़ना what people
like StravinskyStravinsky or Trotskyट्राटस्की,
और पढ़ सके जो
स्त्रविन्सकी या ट्रोट्स्की जैसे ,
01:42
Leninलेनिन or PavlovaPavlova
and othersअन्य लोग thought and feltमहसूस किया.
लेनिन या पावलोवा जैसे
और दूसरों ने जो सोचा और महसूस किया।
01:46
We watch all those personalitiesव्यक्तित्व
beingकिया जा रहा है ordinaryसाधारण people like you and me,
हमने उन सभी लोगों को आपके और मेरे जैसे
साधारण लोग होते हुए देखा,
01:50
not demigodsdemigods,
देवता की तरह नहीं,
01:55
and we see that historyइतिहास consistsहोते हैं
of theirजो अपने mistakesभूल, fearsआशंका, weaknessesकमजोरियों,
और हम देखते हैं कि इतिहास बना है
उनकी गलतियों, भय, कमजोरियों से ,
01:57
not only theirजो अपने "geniusप्रतिभा ideasविचारों."
न केवल उनके "प्रतिभाशाली विचारों " से ।
02:04
Our projectपरियोजना was a shockझटका for manyअनेक Russiansरूसी,
हमारा प्रोजेक्ट कई रूसियों के लिए
एक झटका था,
02:08
who used to think that our countryदेश
has always been an autocraticनिरंकुश empireराज्य
जो सोचते थे कि हमारा देश हमेशा से
एक निरंकुश साम्राज्य रहा है
02:10
and the ideasविचारों of freedomआजादी and democracyजनतंत्र
could never have prevailedप्रबल,
और इसमें स्वतंत्रता और लोकतंत्र के विचार
कभी प्रबल नहीं हो सकते,
02:16
just because democracyजनतंत्र
was not our destinyभाग्य.
क्योंकि लोकतंत्र
हमारी नियति नहीं थी।
02:19
But if we take a broaderव्यापक look,
लेकिन अगर हम एक व्यापक रूप में देखें ,
02:23
it's not that blackकाली and whiteसफेद.
तो यह स्पष्ट नहीं है।
02:26
Yes, 1917 led to 70 yearsवर्षों
of communistकम्युनिस्ट dictatorshipतानाशाही.
हां, 1 9 17 आगे जाकर 70 साल का
कम्युनिस्ट तानाशाही बना ।
02:29
But with this projectपरियोजना, we see that Russiaरूस
could have had a differentविभिन्न historyइतिहास
पर इस प्रोजेक्ट से, हमने देखा कि रूस का
एक अलग इतिहास हो सकता था
02:35
and a democraticलोकतांत्रिक futureभविष्य,
as any other countryदेश could or still can.
और किसी अन्य देश की तरह एक लोकतांत्रिक भविष्य
हो सकता था या हो सकता है।
02:40
Readingपढ़ने the postsपोस्ट from 1917,
1 9 17 के पोस्ट को पढ़कर,
02:45
you learnसीखना that Russiaरूस
was the first countryदेश in the worldविश्व
आपने जाना कि रूस
दुनिया का पहला देश था
02:49
to abolishसमाप्त the deathमौत penaltyजुर्माना,
जिसने मृत्युदंड को खत्म किया,
02:52
or one of the first onesलोगों
to grantअनुदान womenमहिलाओं votingमतदान rightsअधिकार.
या शुरू करने वालों में से एक था
जिसने महिलाओं को मतदान अधिकार दिया।
02:54
Knowingजानने historyइतिहास and understandingसमझ
how ordinaryसाधारण people influencedप्रभावित historyइतिहास
इतिहास को जान कर और ये समझ कर कि
सामान्य लोगों ने इसे कैसे प्रभावित किया
02:59
can help us createसर्जन करना a better futureभविष्य,
बेहतर भविष्य बनाने में मदद हो सकती है,
03:05
because historyइतिहास is just a rehearsalपूर्वाभ्यास
of what's happeningहो रहा है right now.
क्योंकि जो कुछ भी अभी हो रहा है
इतिहास उसका एक रिहर्सल है।
03:07
We do need newनया waysतरीके of tellingकह रही historyइतिहास,
हमें इतिहास को बताने के नए तरीकों
की ज़रूरत है,
03:12
and this yearसाल, for exampleउदाहरण,
और इस साल, उदाहरण के लिए,
03:15
we startedशुरू कर दिया है a newनया onlineऑनलाइन projectपरियोजना
that is calledबुलाया 1968Digitalडिजिटल.comकॉम,
हमने एक नई ऑनलाइन प्रोजेक्ट शुरू किया
जिसे 1 9 68Digital.com कहा जाता है,
03:17
and that is an onlineऑनलाइन documentaryवृत्तचित्र seriesशृंखला
और यह एक ऑनलाइन डाक्यूमेंट्री श्रृंखला है
03:23
that givesदेता है you an impressionप्रभाव
of that yearसाल, 1968,
जो आपको वर्ष 1 9 68 का एक इंप्रेशन देता है
03:28
a yearसाल markedचिह्नित by globalवैश्विक socialसामाजिक changeपरिवर्तन
जो विश्व सामाजिक परिवर्तन द्वारा चिह्नित
एक वर्ष है,
03:32
that, in manyअनेक waysतरीके,
createdबनाया था the worldविश्व as we know it now.
इसने कई मायनों में, दुनिया को बनाया
जैसा हम इसे अब जानते हैं।
03:36
But we are makingनिर्माण that historyइतिहास aliveज़िंदा
लेकिन हम उस इतिहास को जीवित बना रहे हैं
03:40
by imaginingकल्पना what if all the mainमुख्य
charactersवर्ण could use mobileमोबाइल phonesफोन ...
ये कल्पना कर कि क्या होता यदि सभी
मुख्य पात्र मोबाइल फोन का इस्तमाल करते ...
03:43
just like that?
ऐसे ही?
03:49
And we see that a lot of individualsव्यक्तियों
और हम देखते हैं कि बहुत से लोग
03:51
were facingका सामना करना पड़ the sameवही challengesचुनौतियों
and were fightingमार पिटाई for the sameवही valuesमान,
एक जैसी चुनौतियों का सामना कर रहे थे
और एक जैसे मूल्यों के लिए लड़ रहे थे,
03:57
no matterमामला if they livedरहते थे
in the US or in USSRयूएसएसआर
इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे
अमेरिका में रहते थे या यूएसएसआर में
04:02
or in Franceफ़्रांस or in Chinaचीन
or in Czechoslovakiaचेकोस्लोवाकिया.
या फ्रांस या चीन में
या चेकोस्लोवाकिया में .
04:07
By exposingउजागर historyइतिहास
in suchऐसा a democraticलोकतांत्रिक way,
इतिहास का खुलासा करके
ऐसे लोकतांत्रिक तरीके से,
04:11
throughके माध्यम से socialसामाजिक mediaमीडिया,
सोशल मीडिया के माध्यम से,
04:14
we showदिखाना that people in powerशक्ति
are not the only onesलोगों makingनिर्माण choicesविकल्प.
हम देखते हैं कि विकल्प बनाने वाले
सत्ता के लोग अकेले नहीं हैं।
04:16
That givesदेता है any userउपयोगकर्ता a possibilityसंभावना
of reclaimingReclaiming historyइतिहास.
यह किसी भी उपभोक्ता को एक संभावना देता है
इतिहास पर पुनः दावा करने का।
04:22
Ordinaryसाधारण people matterमामला.
साधारण लोग मायने रखते हैं।
04:27
They have an impactप्रभाव.
उनका असर पड़ता है।
04:29
Ideasविचारों matterमामला.
विचार मायने रखते हैं ।
04:31
Journalistsपत्रकारों, scientistsवैज्ञानिकों,
philosophersदार्शनिकों matterमामला.
पत्रकार, वैज्ञानिक,
दार्शनिक मायने रखते है।
04:33
We shapeआकार societyसमाज.
हम समाज को आकार देते हैं।
04:38
We all make historyइतिहास.
हम सब इतिहास बनाते हैं।
04:40
Thank you.
धन्यवाद।
04:43
(Applauseप्रशंसा)
(तालियां)
04:44
Translated by Renu Chandna
Reviewed by Pratibha Sinha

▲Back to top

About the speaker:

Mikhail Zygar - Journalist, writer, filmmaker
Mikhail Zygar is the founder of Future History, the creative digital studio behind Project1917 and 1968.digital.

Why you should listen

Mikhail Zygar is a Russian journalist, writer, filmmaker and the founding editor-in-chief of the Russian independent news TV-channel, Dozhd (2010 - 2015). Prior to Dozhd, Zygar worked for Newsweek Russia and the business daily Kommersant, where he covered the conflicts in Palestine, Lebanon, Iraq, Serbia and Kosovo. His bestseller All the Kremlin's Men is based on an unprecedented series of interviews with Vladimir Putin’s inner circle, presenting a radically different view of power and politics in Russia. His recent book The Empire Must Die was released in Russian and English in 2017. It portrays the years leading up to the Russian revolution and the vivid drama of Russia's brief and exotic experiment with civil society before it was swept away by the Communist Revolution.

More profile about the speaker
Mikhail Zygar | Speaker | TED.com