ABOUT THE SPEAKER
Alisa Miller - CEO, Public Radio International (PRI)
As the CEO of Public Radio International, Alisa Miller works to bring the most significant news stories to millions -- empowering Americans with the knowledge to make choices in an interconnected world.

Why you should listen

Alisa Miller wants to define the future of how people will engage with storytelling and technology. She's CEO of PRI, Public Radio International, and is leading the organization’s transformation from a creator and distributor of news and audio into a multiplatform medium that informs and enables millions of people to act on stories that move them. An advocate for global perspectives in the news, she recently launched the Across Women's Lives Initiative at the Clinton Global Initiative to increase news coverage and engagement around global women’s issues.

BONUS: Watch Alisa Miller's talk "We need more women represented in media" on the TED Archive.

More profile about the speaker
Alisa Miller | Speaker | TED.com
TED2008

Alisa Miller: How the news distorts our worldview

अलिसा मिलर ख़बरों के बारे में खबर दे रही हैं.

Filmed:
2,062,564 views

अलिसा मिलर, सार्वजनिक रेडियो इंटरनेशनल की अध्यक्ष, बता रही है की क्यों, हालाँकि हम दुनिया के बारे में अब इतना कुछ जानना चाहते हैं, फिर भी, अमरिकी मीडिया दरअसल हमें कम बता रही है. आँखें खोल देने वाले आंकड़े और ग्राफ.
- CEO, Public Radio International (PRI)
As the CEO of Public Radio International, Alisa Miller works to bring the most significant news stories to millions -- empowering Americans with the knowledge to make choices in an interconnected world. Full bio

Double-click the English transcript below to play the video.

00:18
How does the newsसमाचार shapeआकार the way we see the worldविश्व?
0
0
4000
खबरें किस तरह हमारे दुनिया देखने के तरीके को आकार देती हैं?
00:22
Here'sयहां के the worldविश्व basedआधारित on the way it looksदिखता है -- basedआधारित on landmassभूभाग.
1
4000
6000
यह है दुनिया, आकार पर आधारित -- भूमि फल पर आधारित.
00:28
And here'sयहाँ है how newsसमाचार shapesआकार what Americansअमेरिकियों see.
2
10000
6000
और यह है अमरीकी कैसे देखते हैं ख़बरों के आधार पर.
00:35
This mapनक्शा -- (Applauseप्रशंसा) -- this mapनक्शा showsदिखाता है the numberसंख्या of secondsसेकंड
3
17000
14000
यह नक्षा -- (तालियाँ) -- दिखाता है की, कितने सेकंड
00:49
that Americanअमेरिकी networkनेटवर्क and cableकेबल newsसमाचार organizationsसंगठनों dedicatedसमर्पित to newsसमाचार storiesकहानियों,
4
31000
5000
अमरीकी चॅनल और केबल समाचार संगठनों ने ख़बरों को समर्पित करे,
00:54
by countryदेश, in Februaryफ़रवरी of 2007 -- just one yearसाल agoपूर्व.
5
36000
5000
देशों के आधार पर, फ़रवरी २००७ में -- केवल एक साल पहले
00:59
Now, this was a monthमहीना when Northउत्तर Koreaकोरिया agreedमाना to dismantleनष्ट its nuclearनाभिकीय facilitiesसुविधाएं.
6
41000
6000
अब, यह वह महिना था जब उत्तरी कोरिया ने अपनी परमाणु इकाइयों को नष्ट करने का निर्णय लिया.
01:05
There was massiveबड़ा floodingबाढ़ in Indonesiaइंडोनेशिया.
7
47000
4000
इंडोनेशिया में भयंकर बाढ़ आई.
01:09
And in Parisपेरिस, the IPCCआईपीसीसी releasedरिहा its studyअध्ययन confirmingपुष्टि man'sपुस्र्ष का impactप्रभाव on globalवैश्विक warmingवार्मिंग.
8
51000
8000
और पेरिस में, आईपीसीसी ने भूमंदालिया उष्मीकरण पर मानव प्रभाव की पुष्टि करने वाली अपनी रिपोर्ट जारी की.
01:17
The U.S. accountedहिसाब for 79 percentप्रतिशत of totalकुल newsसमाचार coverageकवरेज.
9
59000
5000
अमेरिका का हिस्सा कुल ख़बरों का ७९ प्रतिशत था.
01:22
And when we take out the U.S. and look at the remainingशेष 21 percentप्रतिशत,
10
64000
5000
और अगर हम अमेरिका को हटा दें और बाकि २१ प्रतिशत ख़बरों को देखें, तो
01:27
we see a lot of Iraqइराक -- that's that bigबड़े greenहरा thing there -- and little elseअन्य.
11
69000
7000
हम काफी बड़ा भाग इराक का देखते हैं -- वह बड़ा सा हरा भाग है उस तरफ -- और थोडा बहुत कुछ और
01:34
The combinedसंयुक्त coverageकवरेज of Russiaरूस, Chinaचीन and Indiaभारत, for exampleउदाहरण, reachedपहुंच गए just one percentप्रतिशत.
12
76000
8000
उदाहरण के लिए रूस, चीन और भारत का संयुक्त कवरेज, केवल एक प्रतिशत तक पहुंचा.
01:42
When we analyzedविश्लेषण किया all the newsसमाचार storiesकहानियों and removedहटा दिया just one storyकहानी,
13
84000
6000
जब हमने सब ख़बरों का विश्लेषण किया और सिर्फ एक खबर हटाई,
01:48
here'sयहाँ है how the worldविश्व lookedदेखा.
14
90000
2000
तो विश्व ऐसा दिखने लगा
01:50
What was that storyकहानी? The deathमौत of Annaअन्ना Nicoleनिकोल Smithस्मिथ.
15
92000
6000
अन्ना निकोल स्मिथ की मृत्यु की खबर.
01:57
This storyकहानी eclipsedग्रहण everyप्रत्येक countryदेश exceptके सिवाय Iraqइराक,
16
99000
3000
इस खबर ने इराक के अलावा सब को पीछे छोड़ दिया
02:00
and receivedप्राप्त किया 10 timesटाइम्स the coverageकवरेज of the IPCCआईपीसीसी reportरिपोर्ट.
17
102000
5000
और इसे आईपीसीसी रिपोर्ट के मुकाबले दस गुना कवरेज मिला
02:06
And the cycleचक्र continuesकायम है;
18
108000
2000
और चक्र जारी है;
02:08
as we all know, Britneyब्रिटनी has loomedLoomed prettyसुंदर largeविशाल latelyहाल ही में.
19
110000
3000
जैसा की हम सभी जानते, हैं ब्रिटनी आजकल काफी सुर्खियों में है.
02:11
So, why don't we hearसुनो more about the worldविश्व?
20
113000
3000
तो क्यों हमने दुनिया के बारे में और कुछ नहीं सुना है?
02:14
One reasonकारण is that newsसमाचार networksनेटवर्क have reducedकम किया हुआ the numberसंख्या of theirजो अपने foreignविदेशी bureausब्यूरो by halfआधा.
21
116000
6000
एक कारण यह है कि समाचार संगठनों ने अपने विदेशी ब्यूरो की संख्या आधी कर दी है.
02:20
Asideअलग from one-personव्यक्ति ABCएबीसी mini-bureausमिनी-ब्यूरो in Nairobiनैरोबी, Newनया Delhiदिल्ली and Mumbaiमुंबई,
22
122000
9000
इसके अकेले अपवाद हैं एबीसी के नैरोबी, नई दिल्ली और मुंबई के एक व्यक्ति वाले छोटे ब्यूरो.
02:29
there are no networkनेटवर्क newsसमाचार bureausब्यूरो in all of Africaअफ्रीका, Indiaभारत or Southदक्षिण Americaअमेरिका
23
131000
8000
तमाम अफ्रीका, भारत और दक्षिण अमेरिका में कोई भी समाचार संगठन ब्यूरो नहीं है.
02:37
-- placesस्थानों that are home to more than two billionएक अरब people.
24
139000
5000
-- वह हिस्से जो दो अरब से ज्यादा लोगों का घर हैं.
02:43
The realityवास्तविकता is that coveringकवर Britneyब्रिटनी is cheaperसस्ता.
25
145000
5000
वास्तविक्ता यह है की ब्रिटनी पर खबर लिखना सस्ता है.
02:48
And this lackकमी of globalवैश्विक coverageकवरेज is all the more disturbingपरेशान
26
150000
3000
और वैश्विक ख़बरों की यह कमी और भी चिंताजनक है
02:51
when we see where people go for newsसमाचार.
27
153000
2000
जब हम यह देखते हैं की लोग ख़बरों के लिए कहाँ जाते हैं.
02:54
Localस्थानीय TVटीवी newsसमाचार loomsकरघे largeविशाल,
28
156000
4000
स्थानीय टीवी बड़ा अंश है,
02:58
and unfortunatelyदुर्भाग्य से only dedicatesपरिमार्जित 12 percentप्रतिशत of its coverageकवरेज to internationalअंतरराष्ट्रीय newsसमाचार.
29
160000
4000
और दुर्भाग्य से केवल १२ प्रतिशत अंतरराष्ट्रीय समाचारों को समर्पित करता है.
03:03
And what about the webवेब?
30
165000
2000
और वेब का क्या?
03:05
The mostअधिकांश popularलोकप्रिय newsसमाचार sitesसाइटों don't do much better.
31
167000
4000
सबसे लोकप्रिय समाचार साइटें ज्यादा बेहतर नहीं है.
03:09
Last yearसाल, Pewबेंच and the Colombiaकोलंबिया J-Schoolजम्मू-स्कूल analyzedविश्लेषण किया the 14,000 storiesकहानियों
32
171000
5000
पिछले वर्ष, पियु और कोलम्बिया जे-स्कूल ने १४,००० ख़बरों का विश्लेषण किया
03:14
that appearedदिखाई on Googleगूगल News'News' frontसामने pageपृष्ठ.
33
176000
3000
जो गूगल समाचार के मुख्य प्रुष्ट पर थी.
03:17
And they, in factतथ्य, coveredढका हुआ the sameवही 24 newsसमाचार eventsआयोजन.
34
179000
4000
और उन्होंने दरअसल उन्ही २४ घटनाओं पर खबर दी थी.
03:21
Similarlyइसी तरह, a studyअध्ययन in e-contentई-कंटेंट showedदिखाया है that much of globalवैश्विक newsसमाचार from U.S. newsसमाचार creatorsरचनाकारों
35
183000
5000
इसी प्रकार, एक वेब-सामग्री के अध्ययन से पता चला की अमरीकी समाचार रचनाकारों की ज्यादातर वैश्विक खबरें
03:26
is recycledपुनर्नवीनीकरण storiesकहानियों from the APएपी wireतार servicesसेवाएं and Reutersरायटर,
36
188000
4000
एपी समाचार संगठन और रॉयटर्स की ख़बरों का पुनर्नवीनीकरण हैं
03:30
and don't put things into a contextप्रसंग that people can understandसमझना theirजो अपने connectionसंबंध to it.
37
192000
4000
और ऐसा कोई सन्दर्भ नहीं देती है की लोगों को उनका संबंध समझ में आये.
03:34
So, if you put it all togetherसाथ में, this could help explainसमझाना why today'sआज का दि collegeकॉलेज graduatesस्नातकों,
38
196000
5000
तो अगर हम सब कुछ एक साथ रख कर देखें तो समझ सकते हैं की क्यों आजकल के कॉलेज स्नातक
03:39
as well as lessकम से educatedशिक्षित Americansअमेरिकियों,
39
201000
2000
और कम पड़े लिखे अमरीकी, , दोनों ही,
03:41
know lessकम से about the worldविश्व than theirजो अपने counterpartsसमकक्षों did 20 yearsवर्षों agoपूर्व.
40
203000
3000
दुनिया के बारे में अपने २० साल पुराने समकक्षों से कम जानते हैं.
03:44
And if you think it's simplyकेवल because we are not interestedरुचि,
41
206000
6000
और अगर आपको यह लगता है की हमें कोई दिलचस्पी नहीं है,
03:50
you would be wrongगलत.
42
212000
2000
तो आप गलत होंगे.
03:52
In recentहाल का yearsवर्षों, Americansअमेरिकियों who say they closelyनिकट से followका पालन करें globalवैश्विक newsसमाचार mostअधिकांश of the time
43
214000
7000
हाल के वर्षों में, विश्व समाचारों पर अधिक रूप से गौर करने वाले अमरीकी लोगों
03:59
grewबढ़ी to over 50 percentप्रतिशत.
44
221000
2000
की संख्या में ५० प्रतिशत से ज्यादा वृध्ही हुई है
04:01
The realअसली questionप्रश्न: is this distortedविकृत worldviewवैश्विक नजरिया what we want for Americansअमेरिकियों
45
223000
8000
असली सवाल: क्या हम अमरीकियों के लिए दुनिया देखने का विकृत तरीका
04:09
in our increasinglyतेजी से interconnectedपरस्पर worldविश्व?
46
231000
3000
हमारे इस अत्यधिक जुड़े हुए विश्व में चाहते हैं?
04:12
I know we can do better.
47
234000
3000
मुझे पता है कि हम बेहतर कर सकते हैं
04:15
And can we affordबर्दाश्त not to? Thank you.
48
237000
3000
और क्या ऐसा ना करने की हमारे पास गुंजाइश है? धन्यवाद.
Translated by Bhavya Rawal
Reviewed by Anshul Tyagi

▲Back to top

ABOUT THE SPEAKER
Alisa Miller - CEO, Public Radio International (PRI)
As the CEO of Public Radio International, Alisa Miller works to bring the most significant news stories to millions -- empowering Americans with the knowledge to make choices in an interconnected world.

Why you should listen

Alisa Miller wants to define the future of how people will engage with storytelling and technology. She's CEO of PRI, Public Radio International, and is leading the organization’s transformation from a creator and distributor of news and audio into a multiplatform medium that informs and enables millions of people to act on stories that move them. An advocate for global perspectives in the news, she recently launched the Across Women's Lives Initiative at the Clinton Global Initiative to increase news coverage and engagement around global women’s issues.

BONUS: Watch Alisa Miller's talk "We need more women represented in media" on the TED Archive.

More profile about the speaker
Alisa Miller | Speaker | TED.com